Bollywood Stars द्वारा KRK को क्यों नापसन्द किया जा रहा है

केआरके यानी कमाल राशिद खान काफी समय से बॉलीवुड की सुर्खियों में बने हैं और ऐसी उम्मीद बताई जा रही है कि आने वाले कई सालों तक के आर के बॉलीवुड के लिए सुर्ख़ियों की वजह बनेंगे इसकी वजह केआरके का नकारात्मक रवैया है और बॉलीवुड के प्रति उनकी खरी-खोटी बातें हैं केआरके की बातें सुनकर आपके मन में बॉलीवुड के प्रति एक नफरत का भाव जन्म लेने लगता है भले ही प्यार के की बातें सच हो या झूठ हो परंतु यह काफी मायने में एक भारी संख्या में लोगों के बीच बॉलीवुड और बॉलीवुड के काम करने के कामकाज और उनके बिजनेस आइडिया के प्रति अप्रत्यक्ष रूप से नफरत भरने का काम कर रहे हैं वहीं दूसरी तरफ केआरके एक सच्चे क्रिटिक के रूप में जाने जाने लगे हैं और एक बड़ा तबका ऐसा भी है जिसे यह महसूस होता है कि केआरके बहुत ही ईमानदार फिल्म समीक्षक है

KRK कौन है ?

केआरके का पूरा नाम कमाल राशिद खान है। कमाल जन्म से मुस्लिम धर्म के अनुयाई हैं। खबरी वेबसाइट के अनुसार कमाल के पिता का नाम राशिद खान था। बचपन में कमाल पढ़ने लिखने में एक आवश्यक छात्र के रूप में थे इस वजह से उनकी पढ़ाई में कोई खास रुचि नहीं हुई और बाद में उन्होंने फिल्म को अपना जीवन समझा और मुंबई फिल्म इंडस्ट्री में किसी भी तरह से अपनी पैठ जमाने का प्रयास किया। बहुत अधिक प्रतिस्पर्धा होने के कारण कमाल को अधिक अवसर तो नहीं मिल पाए पर जब भी उन्हें अवसर मिला उन्होंने अपने प्रतिभा के बल पर यह बताया कि इस प्रकार की भी एक्टिंग पिक्चरों में की जा सकती है इसी सिलसिले में उन्होंने अपनी फिल्म देशद्रोही की देशद्रोही में श्री कमाल फिल्म अभिनेता के साथ-साथ मुख्य किरदार में भी थे और उन्होंने इस फिल्म को निर्देशक के रूप में भी देखा था कुछ लोग ऐसा मानते हैं कि इस फिल्म में कमाल का निर्देशन आंशिक रूप से था परंतु यह तथ्य कितना सत्य है इसकी पुष्टि अभी नहीं की जा सकती। फिल्मों में आवश्यक कैरियर होने के बाद कमाल खान ने बॉलीवुड क्रिटिक बनने का फैसला किया और यूट्यूब चैनल के माध्यम से लोगों को फिल्मों के रिव्यु प्रदान करने लगे और यहीं से इनके जीवन में एक नया अध्याय प्रारंभ हो गया यह आज एक फिल्म अभिनेता से कहीं अधिक एक फिल्म समीक्षक के रूप में जाने जाने लगे हैं वैसे तो इनकी समीक्षा नकारात्मक रूप में होती है फिर भी दर्शकों का एक बड़ा जत्था इन के वीडियो को बहुत पसंद करता है और इनकी बातों पर काफी हद तक यकीन भी करता है

कमाल खान का एक्टिंग करियर पूरी तरह फ्लॉप नहीं रहा

फिल्मों की बात करें तो कमाल की फिल्म देशद्रोही इन्हें जितना लाभ पहुंचाना चाहती थी उससे अधिक नुकसान पहुंचा गई क्योंकि मुख्य अभिनेता के तौर पर यह फिल्म पूरी तरीके से कमाल की एक्टिंग के वजह से फ्लॉप हो गई लोगों को ऐसा लगने लगा कि कमाल एक अच्छा एक्टर नहीं है और वही इस फिल्म के फ्लॉप का कारण है शुरुआती दिनों में फिल्म समीक्षक भी इसी बात पर जोर देते थे कि देशद्रोही फिल्म का लाभ होना सिर्फ कमाल खान का खराब प्रदर्शन है लेकिन कुछ समय बाद कमाल को एक अन्य फिल्म जो की बहुत चर्चित थी और जिसका नाम एक विलन था उसमें मौका मिला एक विलन फिल्म में रितेश देशमुख श्रद्धा कपूर और सिद्धार्थ मल्होत्रा के साथ कमाल खान का भी रोल बहुत बढ़िया था इस फिल्म में कमाल खान ने एक विलेन की भूमिका निभाई थी और एक था विलन जो अपने दोस्त को अलग-अलग गलत काम करने के लिए उत्साह तथा कमाल खान का यह रोल उन सारे क्रिटिक्स के मुंह पर ताला लगा दिया जिन्होंने यह कहा था कि कमाल खान के कारण ही देशद्रोही फिल्म फ्लॉप हुई थी क्योंकि एक विलन में कमाल के रोल ने जनता के दिलों को छू लिया था और इस तरह का विलन मिलना वाकई में काबिले तारीफ है इस परिपेक्ष में यह बात सिद्ध हुई थी कि कमाल खान की देशद्रोही कमाल खान के खराब एक्टिंग के कारण नहीं बिगड़ी थी बल्कि कमाल खान ने गलत रोल पकड़ लिया था जिसके कारण इस फिल्म को मुंह की खानी पड़ी थी शायद कमाल खान अगर देशद्रोही फिल्म में एक विलेन के रूप में शामिल होते तो वे फिल्में और बेहतर कैरियर कर पाते और फिल्म भी आगे बढ़ पाती परंतु यह एक संकल्पना मात्र है इसमें कितनी सच्चाई है यह अब से नहीं किया जा सकता है

केआरके फिल्म समीक्षक के रूप में कैसे हैं

केआरके की फिल्म समीक्षा दो पहलुओं में देखी जाती है यदि आप बॉलीवुड प्रेमी है और हिंदी फिल्मों को पसंद करते हैं तो आपको कि आरके के रिव्यु अच्छे नहीं लगेंगे जबकि अगर आप एक नकारात्मक फिल्म रिव्यू से संतुष्ट होते हैं और कभी-कभी बॉलीवुड फिल्मों को देखने के बाद आप को यह महसूस होता है कि आपका पैसा बर्बाद हो गया तो केआरके का वीडियो और प्यार के की रिव्यु आपको खुश कर सकती हैं

केआरके के प्रशंसकों की माने तो प्यार के एकदम सीधी बात करने वाले व्यक्तित्व हैं और वह किसी भी अन्य क्रिटिक के जैसे बॉलीवुड के दबाव में नहीं रहते हैं केआरके का सीधा संबंध जनता को बॉलीवुड की सच्चाई दिखाना है कि किस तरह से बॉलीवुड में अच्छे और बुरे काम होते हैं और लोगों को यह समझाना है कि बॉलीवुड जैसा दिखता है नजदीक से पैसा नहीं है इस चीज को करने में केआरके का एक बड़ा योगदान भी माना जा सकता है क्योंकि केआरके पहले से ही बॉलीवुड में रह चुके हैं और बॉलीवुड की सारी हलचल ओं का उन्हें भी सही ज्ञान रहता है और कहीं ना कहीं इसके प्रशंसक इस बात की संतुष्टि करते हैं कि जो बात एक सामान्य क्रिटिक कैमरे पर नहीं बोल सकता कि आरके उन सब बातों से ही एक बड़े फिल्म समीक्षक बन चुके हैं

बॉलीवुड के नजरिए से के आर के बॉलीवुड के शत्रु हैं बहुत से बॉलीवुड निर्देशक और फिल्म निर्माता केआरके को दबाने की कोशिश करते हैं परंतु उनकी लोगों में लोकप्रियता को देखते हुए बॉलीवुड के लोग बहुत ज्यादा डरे हुए हैं वजह साफ है जो फिल्में 100 करोड़ में बनाई जाती हैं केआरके उसका एक सिरे से बहिष्कार कर देते हैं और जिसके साथ साथ केआरके की सारी ऑडियंस भी उस फिल्म को देखने से मना कर देती है और जबकि केआरके के पास 10 लाख से अधिक यूट्यूब सब्सक्राइबर हैं तो उस समय यह स्थिति और भयावह बन जाती है और कई बार ऐसा भी माना जाता है कि कुछ फिल्में केआरकेे के कारण ही कम कमाई कर पाती हैं

KRK की समीक्षा

केआरके एक अच्छे फिल्म समीक्षक हैं परंतु इनके तीखे शब्द बहुत से लोगों को अप्रिय लगते हैं यदि केआरके नपा तुला संतुलित समीक्षा प्रारंभ करें तो फिल्म समीक्षक के रूप में इन्हें बहुत ख्याति मिल सकती हैं हां यह भी संभव है कि इन्हें इस क्रिया का यूट्यूब पर भारी नुकसान भी हो क्योंकि ज्यादातर लोग केआरके की आक्रामकता को ही पसंद करते हैं